भारत के खिलाफ नापाक साजिश रच रहा इस्लामाबाद, पाक ने आतंकी मसूद अजहर को ‘चोरी-छुपे’ किया जेल से रिहा

पाकिस्तान एक बार फिर से भारत में नापाक हरकतों को अंजाम देने की फिराक में है। इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) ने राजस्थान के पास भारत-पाकिस्तान सीमा पर अतिरिक्त पाकिस्तानी सैनिकों की तैनाती के बारे में सरकार को सचेत किया है। साथ ही कहा है कि इस्लामाबाद “एक बड़ी कार्रवाई” की योजना बना रहा है। इंटेलिजेंस ब्यूरो ने यह भी कहा है कि पाकिस्तान ने दो वांटेड आतंकवादियों को आतंकवादी कार्रवाई को अंजाम देने के लिए रिहा भी किया है। यह जानकारी हिन्दुस्तान टाइम्स को इस मामले की जानकारी रखने वाले अधिकारी ने दी है।

इनपुट के मुताबिक, भारत सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 को रद्द करने के कदम के जवाब में पाकिस्तान आने वाले दिनों में सियालकोट-जम्मू और राजस्थान सेक्टरों में “बड़ी कार्रवाई” की योजना बना रहा है। इनपुट में चेतावनी दी गई है कि पाकिस्तान ने योजना के तहत राजस्थान सीमा के पास अतिरिक्त सैनिकों की तैनाती शुरू कर दी है। इंटेलिजेंस को ऐसी खबर मिली है कि आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद सरगना भी अब रिहा कर दिया गया है और वह बड़ी आतंकवादी घटना को अंजाम देने की साजिश रच रहा है।

अधिकारियों ने कहा कि इस इनपुट से जम्मू और राजस्थान सेक्टरों में संबंधित सीमा सुरक्षा बलों और सेना को अवगत करा दिया गया है। साथ ही उन्हें पाकिस्तान आर्मी और आतंकियों के किसी भी सरप्राइज गतिविधि से अलर्ट रहने को कहा गया है।

पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान ने शुक्रवार को जम्मू और कश्मीर में उठाए गए भारत के कदमों के लिए धमकी दी। इमरान खान ने कहा कि वैश्विक समुदाय किसी भी “विनाशकारी” के लिए जिम्मेदार होगा, क्योंकि उसने नई दिल्ली के साथ बढ़ते तनाव के बीच अपनी बयानबाजी जारी रखी क्योंकि सरकार ने अनुच्छेद 370 को निरस्त कर दिया और जम्मू-कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया।

दोनों देशों के बीच बढ़ते तनाव के बीच आईबी इनपुट ने कहा कि पाकिस्तान ने गुप्त रूप से जैश-ए-मोहम्मद (JeM) के प्रमुख मौलाना मसूद अजहर को आतंकवादी ऑपरेशन की योजना बनाने के लिए रिहा कर दिया है, जबकि अन्य आतंकवादी संगठन भी खुलकर काम कर रहे हैं। जम्मू और कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए सीआरपीएफ कैंप पर हमले के बाद ऐसी रिपोर्टें थीं कि पाकिस्तानी एजेंसियों ने अजहर को हिरासत में ले लिया था।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *