50 रुपये का बर्गर, पांच हजार का चालान, जानें क्या है पूरा मामला

उत्तर प्रदेश के बल्केश्वर (न्यू आगरा) निवासी आदित्य के होश उड़े हुए हैं। वह शनिवार को फव्वारा चौराहे पर बर्गर लेने गया था। पचास रुपये का बर्गर खरीदा। लौटकर आया तो मोबाइल पर एक मैसेज आया। उसका पांच हजार रुपये का चालान काट दिया गया। उसने हेलमेट नहीं लगा
रखा था।

घटना दोपहर करीब 12 बजे की है। आदित्य नमक की मंडी में एक सराफा व्यापारी के यहां नौकरी करता है। आठ हजार रुपये महीना वेतन मिलता है। फव्वारा चौराहे पर वह बाइक से बर्गर लेने गया था। इधर नो पार्किंग जोन है। उसने बाइक खड़ी की। बर्गर खरीदा। लौटा तो पुलिस कर्मी खड़ा था। उससे पूछा हेलमेट किधर है। उसने कहा कि दुकान पर है। दस कदम की दूरी पर दुकान है। बाजार में पैदल चलना मुश्किल है इसलिए हेलमेट नहीं लगाया। वह दुकान पर लौट आया। इसी दौरान उसके मोबाइल पर मैसेज आया। ई चालान हुआ था। पांच हजार रुपये जुर्माना लगाया गया है। वह परेशान है। समझ नहीं पा रहा है क्या करे। उसका कहना है कि उसके पास ड्राइविंग लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन और बीमा तीनों कागजात थे।

पुलिस कर्मी ने देखे ही नहीं। पता नहीं किस-किस आरोप में चालान किया है। वह पांच हजार रुपये का जुर्माना भर देगा तो परिवार को महीनेभर रोटी कैसे खिलाएगा। आदित्य का कहना है कि वह इस संबंध में सोमवार को एसएसपी से मिलेगा। उसके पास सिर्फ हेलमेट नहीं था। बिना हेलमेट अभी 500 रुपये जुर्माना है। नो पार्किंग में वाहन खड़ा करने पर 500 रुपये जुर्माना है। इस तरह सिर्फ एक हजार रुपये जुर्माना बनता है।

पीड़ित बोला-बाइक नई, कागज तक नहीं मांगे
ऑनलाइन चालान आया था। इस संबंध में जब ट्रैफिक पुलिस से पूछा गया तो पुलिस ने सिस्टम में चेक किया। बताया कि बिना लाइसेंस 2500, बिना बीमा 2000 व बिना हेलमेट 500 रुपये का जुर्माना लगाया गया है। इस तरह पांच हजार रुपये का चालान हुआ है। वहीं पीड़ित का कहना है कि बाइक नई है। किसी ने कागज मांगे ही नहीं। सीधे चालान मोबाइल पर भेज दिया।

अभी लागू नहीं हुए हैं नए रेट
एसपी ट्रैफिक प्रशांत कुमार प्रसाद का कहना है कि मोटरयान संशोधन अधिनियम 2019 में निर्धारित जुर्माना अभी उत्तर प्रदेश में लागू नहीं हुआ है। आगरा में पुराने नियम के तहत ही ई चालान काटे जा रहे हैं। नए जुर्माना के तहत ये चालान हुआ होता तो बाइक सवार को 11 हजार रुपये का जुर्माना भरना होता।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *